मेरी रफ्तार पे सूरज की किरण नाज करे-बिहार राज्य प्रार्थना

0
2430

मेरी रफ्तार पे सूरज की किरण नाज करे

ऐसी परवाज दे मालिक कि गगन नाज करे

वो नजर दे कि करुँ कद्र हरेक मजहब की

वो खुशबू से महक जाये ये दुनिया मालिक

मुक्षको वो फूल बना सारा चमन नाज करे

इल्म कुछ ऐसा दे मैं काम सबों के आऊँ

हौसला ऐसा ही दे गंग – जमन नाज करे

आधे रास्ते पे न रुक जाये मुसाफिर के कदम

शौक मंजिल का हो इतना कि थकन नाज करे

दीप से दीप जलायें कि चमक उठे बिहार

ऐसी खूबी दे ऐ मालिक कि वतन नाज करे

जय बिहार जय बिहार जय जय जय जय बिहार

इसे भी पढ़े          पटना की कुछ पुरानी अनदेखी तसवीरें
इसे भी पढ़े          मेरे भारत के कंठहार तुझको शत् – शत् वंदन बिहार | बिहार राज्य गीत
इसे भी पढ़े          एक IAS अधिकारी ने BPSC की तैयारी के लिए लिखी है पुस्तक
इसे भी पढ़े           जानिए :विश्वप्रसिद्ध मधुबनी पेंटिंग के इतिहास को

 

 

 

ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए हमें सब्सक्राइब जरूर करें


 

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here